कानपुर के 70 % बच्चों में विटामिंस की भारी कमी


कानपुर शहर के 70 फीसदी बच्चों में विटामिंस की भारी कमी है।

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मामूली अंतर है। शहरी बच्चों को भी खुराक में विटामिन की मात्र कम मिल रही है।विटामिन और माइक्रोन्यूटियंट (खनिज तत्व) बच्चों का मस्तिष्क और शरीर का विकास प्रभावित हो रहा है। लड़के-लड़कियों की लम्बाई कम हो रही। एनीमिक हो रहे हैं। उम्र और लम्बाई के हिसाब से वजन या तो कम है या अधिक है। पढ़ाई में मन नहीं लग रहा। स्कूलों में उनका प्रदर्शन ठीक नहीं है। बच्चे सुस्त हो रहे हैं। चिड़चिड़े हो रहे। बार बार सर्दी जुकाम बुखार से पीड़ित हो रहे हैं। स्वास्थ्य महकमे की एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। यह सर्वे डोर-टू-डोर एक से पांच वर्ष के बच्चों में किया जा रहा है। पोषण माह के तहत रहे स्क्रीनिंग अभियान में अधिकारी इस रिपोर्ट को लेकर हैरत में है। इसी रिपोर्ट के आधार पर ग्रामीण क्षेत्रों और मलिन बस्तियों के बच्चों के लिए एक माइक्रोपलान तैयार किया गया है जिसमें बच्चों के साथ मांओं की सेहत को लेकर काफी कुछ किया जाना है। डॉक्टरों का कहना है कि मांओं में पोषण को लेकर जागरूकता की कमी है। उन्हें जागरूक करने से इसमें 20-25 फीसदी वार्षिक गिरावट दर्ज होगी।

Advertisements