कभी विदेशों तक बजता था शहर की मिलों का डंका


खंडहर बता रहे ईमारत की बुलंदी  !

कभी विदेशों तक बजता था शहर की मिलों का डंका

Advertisements

One thought on “कभी विदेशों तक बजता था शहर की मिलों का डंका

  1. Pingback: कानपुर की बंद मिलों में फिर लौटेगी रौनक | Kanpur News - कानपुर न्युज़

Comments are closed.