कानपुर,ठंड और धूल, सेहत के लिए शूल


इस बार सर्दी शहरवासियों की सेहत के लिए समस्याएं पैदा कर सकती है। इसकी वजह है जलनिगम की लेटलतीफी। साढ़े आठ अरब से शहर को पानी पिलाने के नाम पर दस साल से चल रही खोदाई अभी भी खत्म नहीं हुई है। आपसी समन्वय की कमी, कुप्रबंधन, गुणवत्ताहीन काम और लापरवाही का खामियाजा शहर एक बार फिर भुगतेगा। अगले सप्ताह से शहर के विभिन्न इलाकों में आठ किमी पाइप लाइन डालने के लिए फिर खोदाई होने जा रही है। इससे धूल उड़ेगी जो सेहत के लिए शूल का काम करेगी। खोदाई से डेढ़ दर्जन से अधिक मोहल्ले प्रभावित होंगे।

06112016

nagar-nigam-response
fog-in-city


read-more

K A N P U R N E W S

banner1
Reality check : रैन बसेरे में लटक रहे ताले, ठंड में ठिठुर रहा गरीब (12/2/2016) - लोगों के मुताबिक, हीटर में सोने वाले अधिकारियों के लिए अभी सर्दी कहा आई है। उनके लिए ठण्ड तो तब पड़ती है, जब बर्फबारी होती है।
Bollywood की इन बड़ी फिल्मों में रहा ‘कनपुरिया कनेक्शन’ (12/12/2017) - भारतीय सिनेमा और टेलीविजन इंडस्ट्री में यूपी की लैंग्वेज और स्टाइल खूब पसंद की जाती है। लेकिन आज हम आपको बता रहें हैं ऐसे शहर के बारे में जो बॉलीवुड फिल्मों में छाया हुआ है। यहां बात हो रही है मैनचेस्टर ऑफ द ईस्ट कहे जाने वाले कानपुर शहर की। जानें बॉलीवुड की उन बड़ी…
Bhagat Singh का क्या है रिश्ता कानपुर से? (9/17/2016) - कानपुर से छपने वाले गणेश शंकर विद्यार्थी के क्रांतिकारी अख़बार ‘प्रताप' में 1925 में कानपुर गए थे। पीलखाना में प्रताप की प्रेस थी। वे उसके पास ही रहते थे। वे रामनारायण बाजार में भी रहे। वे नया गंज के नेशनल स्कूल में पढ़ाते भी थे। यानी कि उनका इन दोनों शहरों से खास तरह का संबंध रहा। पर, अफसोस कि इन दोनों शहरों में वे जिधर भी रहे या उन्होंने काम किया,बैठकों में शामिल हुए, उधर उनका कोई नामों-निशान तक नहीं है। उऩ्हें एकाध जगह पर बहुत मामूली तरीके से याद करने की कोशिश की गई है।
होली में समय से पहुंचाएंगी बसें व ट्रेनें (3/3/2017) - ली पर अबकी बार यात्रियों को समय से घर पहुंचाने के लिए रेलवे और रोडवेज प्रबंधन ने पहले से ही कमर कस ली है। रोडवेज प्रबंधन 10 मार्च की शाम से 188 स्पेशल बसें रूटों पर चलाना शुरू कर देगा। इन बसों का संचालन 16 मार्च तक नियमित जारी रहेगा। इसी तरह रेलवे ने अबतक…
हैरान न हों, यह अपना कानपुर ही है। (9/21/2016) - कानपुर:-दस माह की कोशिश के बाद आखिरकार मोदी सरकार ने कानपुर को मंगलवार को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल कर लिया है। ऐसे में अब यहां की तस्वीर बदलने का रास्ता खुल गया है। कानपुर के 2311.97 करोड़ रुपए के स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट में आधी धनराशि केंद्र जबकि आधी राज्य सरकार को देनी होगी। मंज़ूर हुए प्रोजेक्ट में ग्वालटोली का इलाक़ा यानी वार्ड 4,13,15,59 और 76 में आने वाले मोहल्लों का कायाकल्प होगा। साथ ही कम्पनी बाग़ से नाना राव पार्क तक वीआईपी रोड पर गंगा किनारे इलाकों में कई तरह की सुविधाओं की झड़ी लग जाएगी।
हजारों यात्रियों से गुलजार रहने वाला सेंट्रल स्टेशन रूरा हादसे के बाद गुरुवार को पूरी तरह से सन्नाटे में तब्दील हो गया। (12/30/2016) - रूरा हादसे के दूसरे दिन सौ से अधिक ट्रेनों के निरस्त और डायवर्ट होने का व्यापक असर रहा। हजारों यात्रियों से भरा रहने वाले सेंट्रल स्टेशन का नजारा बिल्कुल उलट दिखा। सुबह से लेकर दोपहर तक यहां यात्रियों का अभाव रहा। दोपहर लगभग 12 बजे सभी प्लेटफॉर्मो पर सन्नाटा पसरा रहा। मजबूरी में जो मुसाफिर…
स्मार्ट सिटीज की तीसरी लिस्ट में कानपुर को मिली जगह (9/21/2016) - अपना शहर कानपुर के भी अब स्मार्ट बनने का रास्ता साफ हो गया है। बुधवार को केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने स्मार्ट सिटीज की तीसरी लिस्ट का ऐलान किया, इसमें कानपुर भी शामिल है। लिस्ट कुल 27 नए शहरों नाम है। इस बार स्मार्ट सिटीज की दौड़ में 63 शहर शामिल थे। 12 राज्यों के 27 शहरों को स्मार्ट सिटीज की लिस्ट में जगह मिली है। यूपी के 3 शहरों को इस लिस्ट में जगह मिली है।
सौगात: कानपुर से इसी महीने उड़ेंगी फ्लाइट (10/8/2016) - कानपुर को दिवाली का बड़ा तोहफा मिलने जा रहा है। ढाई सालों से हवाई नक्शे से कटे शहर को इसी माह फ्लाइट मिलने वाली है। शहर से सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने शुक्रवार को उद्यमियों के बीच इसकी घोषणा कर दी।डॉ. जोशी ने कहा कि जल्द कानपुर को छोटे शहरों से हवाई सेवा से जोड़ा जाएगा।
Advertisements