कानपुर में छटी धुंध, यूपी में गहराई


%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%aa%e0%a5%81%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%9b%e0%a4%9f%e0%a5%80-%e0%a4%a7%e0%a5%81%e0%a4%82%e0%a4%a7-%e0%a4%af%e0%a5%82%e0%a4%aa%e0%a5%80-%e0%a4%aeधुंध से कानपुर को सोमवार को भले ही राहत मिल गई हो, लेकिन उत्तर प्रदेश के लखनऊ, इटावा, फरुखाबाद, कन्नौज हरदोई समेत कई जिले धुंध और प्रदूषण की चपेट में दूसरे दिन भी बने रहे। इन शहरों में सुबह धुंध ज्यादा थी, जिससे लोगों की आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कतें हुईं। दोपहर के समय धुंध कुछ कम हुई तब लोगों ने राहत महसूस की। शाम होते-होते फिर धुंध घनी हो गई। धुंध की वजह से सड़क और ट्रेन यातायात कई स्थानों पर बाधित रहा। ट्रेनें कई घंटे लेट रहीं। कई ट्रेनें स्थगित भी करनी पड़ीं। स्थानीय प्रशासन ने लोगों को एहतियात बरतने के साथ ही प्रदूषण नहीं फैलाने के सख्त निर्देश दिए हैं। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्त का कहना है कि सोमवार को हवा का रुख बदला है और अब हवा उत्तर पश्चिम बह रही है। मगर इसकी रफ्तार अभी पांच से सात किमी है। जब रफ्तार 10-12 किमी प्रति घंटे से ऊपर होगी तभी यह धुंध खत्म होगी। मेडिकल इमरजेंसी

दिल्ली में प्रदूषण से निपटने को केजरी सरकार के निर्णयों के बाद उपराज्यपाल ने भी कड़े फैसले किए। हालांकि दिल्ली में सोमवार को धुंध से थोड़ी राहत मिली। आतिशबाजी पर रोक: धार्मिक उत्सवों के अलावा आतिशबाजी पर रोक रहेगी। निर्माणतोड़फोड़ पर 14 नवंबर तक रोक। पुराने वाहनों का रजिस्ट्रेशन बंद: 15 वर्ष से पुराने डीजल वाहनों का पंजीकरण मंगलवार से रद होगा। सीमाओं पर प्रदूषण जांच : दिल्ली में घुसने वाले वाहनों की सीमा पर प्रदूषण जांच होगी। उल्लंघन पर कार्रवाई होगी।

हरदोई में सोमवार सुबह छाई धुंध से वाहन चालकों को दिक्कत हुई। धुंध घनी होने से सांस लेने में भी दिक्कत हुई।

नई दिल्ली। एनजीटी ने सोमवार को प्रदूषण के मामले में दिल्ली सरकार को जमकर लताड़ लगाई। राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने चेतावनी देते हुए कहा कि नाकाम रहने पर प्राधिकारियों के खिलाफ कड़ा आदेश जारी किया जाएगा। साथ ही पानी के छिड़काव के लिए हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल करने को भी कहा।

kanpur-pollutionपुलिस चेकिंग में मस्त, जनता जाम से पस्त

ट्रैफिक पुलिस की बदइंतजामी और बेतुके चालन की वजह से घंटों तक वाहन सवार बिलबिलाते रहे। कारें और बाइक तो दूर कई स्थानों पर तो पैदल तक चलना मुश्किल हो गया। जाम की भयावकता का अंदाजा इसी से लगा कि पुलिस वाहन, एंबुलेंस और लाल-नीली बत्ती लगी गाड़ियां भी जहां की तहां फंसी रहीं। कोई जरीबचौकी तो कोई दादानगर पुल पर फंसा। हालत यह थी कि पुलों का रास्ता पार करने में हर एक के पसीने छूट गए। जाम में फंसे स्कूली बच्चों के चेहरे भूख, प्यास से लाल पड़ गए। ध्वस्त ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर सभी के चेहरो पर तनाव झलक रहा था पर मौजूदा हालात तक सब बेबस से खड़े रहने को मजबूर थे। जाम में फंसे लोग आधे से पौन घंटे में पुलों का रास्ता तय कर पा रहे थे। यातायात माह होने की वजह से ट्रैफिक अमला हर जगह मुस्तैद तो दिखा पर सिपाही, दरोगा व्यवस्था बनाने के बजाय वाहनों की चेकिंग में अधिक मशगूल दिखे। इसकी वजह यह थी कि 24 घंटे पहले ही एसपी ट्रैफिक ने मातहतों को वाहनों के चालान संख्या बढ़ाने का निर्देश दे चुके हैं। पूरा अमला ट्रैफिक इंतजाम की बात भूल केवल कोटा पूरा करने में तल्लीन रहा। वीआईपी रोड से स्वरूपनगर को जाने वाली सड़क पर शाम के समय जाम लगा। अफीम कोठी पर घंटों तक वाहन या तो खड़े या फिर रेंगते रहे। जूही पुल तक नजर आ रही थीं तो सिर्फ वाहनों की कतारें। यहां घंटों तक इसी तरह भीषण जाम की स्थिति रही।निर्माणाधीन फ्लाईओवर जाम का बने कारण: सीओडी क्रॉसिंग हो या गो¨वदपुरी पुल। गोलाघाट रेलवे क्रॉसिंग हो या फिर अन्य पुल। दोपहर लगभग ढाई बजे सीओडी क्रॉसिंग लगातार 42 मिनट तक बंद रहने के बाद खुली तो वाहन चालकों के बीच जल्दी निकलने की होड़ मची तो जाम लगा। इसी तरह गो¨वदपुरी पुल पर शाम के समय वाहनों के पहिए थम गए। बैंक चौराहे पर तो इस कदर वाहन फंस गए कि पैदल चलने वालों तक को रास्ता नहीं दिखा। बाकी कमी पुल की ढलान पर खड़े फलों और सब्जी के ठेलों ने पूरी कर दी।

परेड चौराहे पर सोमवार दोपहर वाहनों का लोड बढ़ने से जाम लग गया। घंटों तक कार, बाइकें और ऑटो रेंग-रेंगकर चले।शाम लगभग पांच बजे कालिंदी एक्सप्रेस के चक्कर में जरीबचौकी क्रॉसिंग बंद हुई तो जीटी रोड पर वाहन खड़े हो गए। पीरोड और संगीत सिनेमा रोड की ओर से आने वाले भारी वाहन जीटी रोड तक खड़े हो गए। इसकी वजह से गुटैया क्रॉसिंग की ओर जाने वाले वाहनों का रास्ता बंद हो गया। बाकी कमी दूसरी साइड अतिक्रमण की वजह से रास्ता बंद हुआ। इसकी वजह से एक घंटे तक ट्रैफिक अव्यवस्थित रहा।

सेल्स टैक्स रोड पर सोमवार देर रात भीषण जाम लगने से लोगों को खासी दिक्कत हुई।कचहरी रोड यानी पुलिस लाइन के बगल में खड़ी कारों को ट्रैफिक पुलिस की क्रेन उठाने लगी। पांच मिनट तक रास्ता बंद होते ही एक ओर डीएवी तिराहे तक वाहनों की लाइन लगी। इसकी वजह से रजिस्ट्री दफ्तर के सामने की सड़क पर तो पूरी तरह से आवागमन बंद हो गया। कोई दफ्तर जाने को परेशान दिखा तो कोई कचहरी से बाहर निकलने को आतुर रहा। दोपहर 12 से एक बजे तक अव्यवस्था का माहौल रहा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s