कानपुराइट्स लाइन हाजिर


KANPUR: सिटी इन दिनों 46 बैंक और 1200 एटीएम और केस्को के 45 कैश काउंटर तक ही सिमट कर गया है। सुबह से ही बैंक्स, एटीएम के बाहर कानपुराइट्स की लंबी- लंबी लाइन नजर आती हैं। सेकेंड सैटरडे का हॉलीडे होने के बावजूद लोग देर तक घरों में नहीं सोए। बल्कि उनकी नींदें बैंक्स और एटीएम में जाकर ही टूटी। सैटरडे को लाखों लोग 500 और 1000 के पुराने नोट बैंक में जमा करने, बदलने और एटीएम से रुपए निकालने के पहुंचे। इसी तरह हजारों लोग पुराने नोटों के साथ केस्को के कैश कलेक्शन सेंटर्स में पहुंचे.500 और एक हजार के नोटों को लेकर शुक्रवार को भी शहर में हाहाकार मचा रहा। दर्जनों बैंकों और एटीएम में इसे लेकर नोकझोंक होती रही। घंटों कतारों में खड़े लोगों का जब सब्र टूटा तो उन्होंने जमकर हंगामा काटा। भीड़ की बैंककर्मियों से भी तीखी झड़पें भी हुईं। बीच-बचाव करने पहुंची पुलिस भी लोगों के आक्रोश का शिकार हुई। हालांकि पुलिस ने उन्हें किसी तरह शांत कराया।

ग्वालटोली पीएनबी शाखा शुक्रवार शाम करीब 6:30 बजे बंद कर दी गई। जबकि बैंक के बाहर तकरीबन 25-30 लोगों की लाइन लगी हुई थी। लोगों ने बैंक का शटर खोलने को कहा। इस पर बैंक अधिकारियों व कर्मचारियों ने गेट खोलने से इनकार कर दिया। अधिकारियों का कहना था कि बैंक में काम काफी पें¨डग था। इसको पूरा करने में ही आधी रात हो जाती। इसलिए बैंक बंद कर दिया गया है मगर यह बात किसी को बर्दाश्त नहीं हुई। महिलाओं समेत अन्य लोग बैंक के सामने धरने पर बैठ गए और नारेबाजी शुरू कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश लेकिन वह नहीं माने। रात करीब दस बजे तक वह बैंक के बाहर बैठे रहे। उसके बाद निराश होकर वापस लौट गए। वहीं, किदवई नगर ‘वाई’ ब्लॉक स्थित डाकघर व गो¨वद नगर डाकघर में भी सैकड़ों लोग करेंसी एक्सचेंज करवाने पहुंचे। काफी देर तक इंतजार के बाद बाद भी जब करेंसी न बदली गई तो ग्राहक भड़कने लगे। डाक कर्मचारियों कोबुरा-भला कहना शुरू कर दिया। यह सुनकर कर्मचारियों ने विरोध किया। इस पर दोनों के बीच खूब बहस हुई। नौबत मारपीट की आने से पहले ही मौजूद पुलिसकर्मियों ने ग्राहकों व कर्मचारियों को अलग-थलग किया। उधर, नौबस्ता, बाबूपुरवा, किदवई नगर समेत साउथ की कई बैंकों में भी छिटपुट हंगामा व कहासुनी होती रही। बैंक कर्मचारियों सहित लोग पुलिस से भी कई जगहों पर भिड़ गए मगर पुलिस को लोगों की परेशानी अंदाजा था इसलिए लोगों को समझाने का हरसंभव कोशिश में जुटी रही। पुलिस की रही पैनी नजर: नोट बंदी के बाद एसएसपी ने एसपी, सीओ और थानेदारों को अलर्ट जारी किया था। साथ ही बैंक, एटीएम व पेट्रोल पंप की सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मियों की तैनाती का आदेश दिया था। शुक्रवार को भी पुलिस क्षेत्रीय थानेदारी की मौजूदगी में पेट्रोलिंग करती रही। वहीं एसपी व सीओ भी दिनभर जायजा लेते रहे ताकि कहीं पर भी किसी तरह का माहौल न बिगड़े। एसएसपी के मुताबिक अगले तीन दिनों तक इसी तरह की सुरक्षा व्यवस्था रहेगी।

99992673856जिधर देखो बस लाइन ही लाइन

ट्यूजडे को अचाकन 500 व 1000 के नोट बन्द कर दिए गए। इसी वजह से वेडनेसडे से ही बैंक्स, एटीएम, डाकघर में पुराने 500,1000 के नोट बदलने के लिए लंबी- लंबी लाइन लग रही है। 10 तारीख को केस्को को परमीशन मिली तो उसके कैश काउंटर्स पर सुबह से लगी लाइन रात में ही टूट रही है। इधर सेंट्रल गवर्नमेंट के आदेश के बाद सेकेंड सैटरडे होने के बावजूद भी बैंक खुले। हॉलीडे का दिन होने के बावजूद सामान्य दिनों से कहीं भीड़ बैंकों के बाहर नजर आई। चाहे नार्थ सिटी के स्वरूप नगर, आर्य नगर, काकादेव, सिविल लाइन्स के बैंक या एटीएम हो फिर साउथ सिटी के किदवई नगर, बर्रा, गोविन्द नगर, श्याम नगर आदि मोहल्लों हो। हर जगह बैंक्स खुलने से पहले ही लंबी- लंबी लाइन लग गई।99992673849

एटीएम ने बढ़ाई समस्या

किदवई नगर, सिविल लाइन्स, आर्य नगर, श्याम नगर, सर्वोदय नगर आदि मोहल्लों के जिन एटीएम से रुपए निकलने की खबर मिली, लोग वहां लाइन लगाने के लिए फौरन पहुंच गए। यह सिलसिला बैंक बंद होने तक और एटीएम के जवाब देने के बाद ही जाकर थमा। इसका अन्दाजा इससे लगाया जा सकता है कि देर शाम तक 4,000 करोड़ का कारोबार बैंकों मे हुआ। इनमें से 1,100 करोड़ रुपए रुपए के नोट एक्सचेंज हुए तो 1800 करोड़ रुपया खातों में जमा किया गया। यह फ्राईडे को जमा की गई राशि से 100 करोड़ रुपए कम था। नोट बंदी के फैसले के बाद जब से बैंक खुले हैं सिर्फ कानपुर के ही 750 से ज्यादा शाखाओं में 30 अरब रुपयों का कारोबार हो चुका है.

900 करोड़ रुपए – सामान्य दिनों में रोजाना शहर में बैंकिंग ट्रांजक्शन

1800 करोड़ रुपए – खातों में जमा हुए सैटरडे को

1100 करोड़ रुपए- के नोट एक्सचेंज हुए

300 करोड़ रुपए- आरटीजीएस के जरिए भुगतान

450 करोड़ रुपए- चेक के जरिए भुगतान

470 करोड़ रुपए- खातों के जरिए भुगतान

जाजमऊ नई चुंगी चौराहे पर बसपाइयों ने पीएम नरेंद्रमोदी का पुतला फूंका।

चकेरी। पांच सौ व हजार के नोट बंद होने पर बसपाइयों ने शुक्रवार को जाजमऊ नई चुंगी चौराहे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका। उनका कहना है कि देश में पांच सौ हजार के नोट बंद होने का फैसला पीएम का बिल्कुल गलत है। इससे गरीब जनता परेशान हो रही है। जिनके घरों में शादियां होने वाली थीं, उनके रिश्ते टूट रहे हैं। बीमार लोग अस्पताल में इलाज नहीं करा पा रहे हैं। लोग नोट तुड़वाने के लिए दुकानों में भटक रहे है, उन्हें खाने-पीने की सामग्री तक नहीं मिल पा रही है। राजू, रमजान, महफूज मौजूद थे।

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s