11 दिसम्बर को पैगम्बरे इस्लाम के जन्म दिवस पर जश्ने चिरागां मनाएंगे


 

कानपुर। बारह रबीअव्वल के चांद को लेकर चल रही अटकलें अब समाप्त हो गयी हैं। सोमवार को देवबंदी व बरेलवी मसलक के उलमा ने संयुक्त बैठक करके बताया कि अब 11 दिसम्बर को पैगम्बरे इस्लाम के जन्म दिवस पर जश्ने चिरागां मनाएंगे। साथ ही 12 दिसम्बर को परेड मैदान से जुलूसे मोहम्मदी निकाले जाने की तैयारियां शुरू हो गयी हैं। रबीअव्वल के चांद की तस्दीक शरई तौर पर शहर में 29 का चांद सफर को नहीं हो सकी थी लेकिन दूसरे प्रदेशों में और उप्र के आजमगढ़, बनारस, इलाहाबाद बरेली आदि में तस्दीक शरई होने के बाद स्थानीय उलेमा ने बैठक की। मरकजी सुन्नी रूवियते हिलाल कमेटी के अध्यक्ष मौलाना रियाज अहमद हशमती, सुन्नी मरकजी रूवियते हिलाल कमेटी के अध्यक्ष मौलाना आलम रजा नूरी, मुफ्ती मो. इलियास नूरी, मुफ्ती शहबाज अनवर नूरी, मुफ्ती हसीब अख्तर शाहिदी, कारी कासिम हबीबी, मौलाना मो. हाशिम अशरफी व प्रवक्ता शमसुल कमर रहमानी की नयी मस्जिद बाबू पुरवा में बैठक के बाद चांद का एलान किया गया।

बारावफात जुलूस के दिन रूट की सभी शराब दुकानें बंद रहेंगी। परेड में अंदर-बाहर के बाजार भी तीन दिन नहीं लगने दिये जायेंगे और सुअरबाड़े भी बंद रहेंगे। जुलूस के दिन बिजली की निर्बाध आपूत्तर्ि होगी और फाल्ट ठीक करने के लिये विशेष इंतजाम होंगे। उसके पहले जुलूस मार्ग पर साफ-सफाई, अतिक्रमण हटाने और अन्य समस्याओं को दूर करने के अभियान चलेगा। यह निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में हुई बैठक में एसएसपी आकाश कुलहरि और एडीएम सिटी अविनाश सिंह ने दिये। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देश पर हुई इस बैठक में बारावफात की तैयारियों की समीक्षा की गयी और संबंधित अफसरों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। एडीएम सिटी ने कहा कि नगर के बारावफात जुलूस को सांप्रदायिक व सामाजिक समरसता और एशिया का सबसे बड़ा जुलूस होने का गौरव हासिल है। इसलिये इसमें कोई कमी नहीं रहनी चाहिये।

d117881482

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s