माघी पूर्णिमा पर गंगा बैराज पर श्री कोटि लक्ष्मी महायज्ञ

कानपुर कार्यालय संवाददाता -माघी पूर्णिमा पर गंगा बैराज पर चल रहे श्री कोटि लक्ष्मी महायज्ञ में लगभग पचास हजार लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की गई है। आयोजकों की माने तो यज्ञ क्षेत्र में लगी पांच रसोइयों में तैयारियां तेज हो गई हैं। अनुमान है कि शुक्रवार को गंगा बैराज सहित शहर के अन्य घाटों पर स्नान के बाद बड़ी संख्या में भक्त यज्ञ में शामिल हो सकते हैं। कोटि लक्ष्मी महायज्ञ में भक्तों के प्रसाद के लिए भी विशेष आयोजन किया गया है। इसमें ब्राह्मण लंगर, अतिथि लंगर, यजमान भोजन शाला व सामाऩ्य लंगर की व्यवस्था की गई है। श्री कोटि लक्ष्मी महायज्ञ के संयोजक नरेन्द्र शर्मा तिरंगा ने बताया कि कि भक्तों के लिए भोजन बनाने के लिए खासतौर पर मध्य प्रदेश के हरनवादा गांव से लोग आए हैं। इसके अलावा पंजाब, राजस्थान, दिल्ली व शहर के लालबंगल एनटू रोड गुरुद्वारा से भी सेवादार भोजन पकाने में सहयोग कर रहे हैं। खास बात यह है कि सभी भक्तों के लिए रसोई में पकने वाला भोजन चूल्हे की आंच में पवित्रता से बनता है। भोजन पकाने की प्रक्रिया में किसी भी तरह की मशीन का इस्तेमाल नहीं किया जाता। उधर माघी पूर्णिमा के स्नान के बाद यज्ञ के महत्व पर श्री धर्म संघ संस्कृत महाविद्यालय के रायसिंह नगर राजस्थान के प्राचार्य डॉ. सज्जन प्रसाद तिवारी ने बताया कि पर्वकाल पर गंगा स्नान से शरीर की ऊर्जा में कई गुना बढोत्तरी होती है। मनुष्य को उसके कर्म के अनुसार ही फल मिलता है। गीता के तीसरे ोक के अनुसार यज्ञ कर्म ही सबसे बड़ा कर्म कहलाता है।d126422146

d126419952

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s