सीएम को भेजा कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट


metro.gifकानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट एक बार फिर से दौड़ने की उम्मीद हो गई है। केडीए ने कानपुर मेट्रो का प्रोजेक्ट सीएम को भेज दिया है। पिछले दिनों आवास विभाग के प्रजेंटेशन में सीएम योगी आदित्यनाथ ने मेट्रो के रास्ते में आ रही बाधाओं को दूर कर तेजी से काम करने को कहा था। केडीए ऑफिसर्स ने सेंट्रल गवर्नमेंट से एनओसी न मिलने का मामला उठाया था। इधर बिल्डिंग मैटेरियल्स के दाम 2 से 3 गुना तक हो जाने और पर्याप्त उपलब्धता न होने के कारण पॉलीटेक्निक में मेट्रो यार्ड बनाने का काम ठप चल रहा है। कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए स्टेट गवर्नमेंट ने 50 करोड़ रूपए दिए हैं। हालांकि सेंट्रल गवर्नमेंट से एनओसी न मिलने के कारण अभी तक कोई बजट भी नहीं मिला है.

केडीए बोर्ड मीटिंग फिर स्थगित

केडीए बोर्ड की मीटिंग एकबार फिर स्थगित हो गई। पहले भी तीन बार केडीए बोर्ड की मीटिंग टल चुकी है। सबसे पहले 18 मार्च को कमिश्नर मो.इफ्तिखारुद्दीन की अध्यक्षता में बैठक होनी थी। फिर डेट बढ़ाकर 24 व 30 मार्च की गई। मंडे को होने वाली केडीए बोर्ड की मीटिंग में बजट सहित अन्य प्रपोजल रखे जाने थे।

KanpurMetroसीएम के फरमान से हरकत में अधिकारी, मेट्रो दौड़ाने की तैयारी

कानपुर। सपा सरकार में मनमर्जी से काम करने वाले मेट्रो के जिम्मेदार अधिकारी नवनियुक्त सीएम के फरमान से हरकत में आ गये। जिसके चलते अब मेट्रो को दौड़ाने के लिए अधिकारी तैयारी करने लगे। जिससे संभावना है कि जल्द ही पॉलीटेक्निक में मेट्रो का काम तेजी से शुरू हो जाएगा।

लखनऊ के बाद कानपुरवासियों को तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मेट्रो का तोहफा दिया था। जिसका शिलान्यास भी मुख्यमंत्री ने बड़े तामझाम से पिछले वर्ष चार अक्टूबर को पालिका स्टेडियम में किया था। लेकिन शिलान्यास के बाद सीएम का लखनऊ जाना हुआ कि अधिकारी मेट्रो के काम में शिथिलता बरतने लगे। किसी तरह से नए वर्ष में जनवरी तक काम चलता रहा पर ज्यों ही चुनाव का दौर आया काम लगभग पूरी तरह से ठप हो गया। अब सरकार बदलने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कानपुर व बनारस के मेट्रो के काम में तेजी लाने का फरमान सुना दिया। जिसका असर कानपुर के मेट्रो पर भी दिखने लगा। हालांकि अभी काम नहीं शुरू हुआ पर अधिकारियों के आवभाव से स्पष्ट हो रहा है कि जल्द ही पॉलीटेक्निक स्थित यार्ड में काम की धार तेज होने जा रही है। केडीए उपाध्यक्षा जयश्री भोज ने बताया कि जल्द ही पॉलीटेक्निक में करीब 40 एकड़ जमीन पर 24 कोच वाली मेट्रो को बनाने का काम शुरू हो जाएगा।

कहा कि यार्ड बनाने का काम सैम इंडिया विल्ट प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी के पास है। जिनसे लगातार बात की जा रही है जो यार्ड बनाने के लिए तत्पर हैं। केडीए के चीफ टाउन प्लानर व मेट्रो प्रोजेक्ट के इंचार्ज आशीष शिवपुरी ने बताया कि पालीटेक्निक में परीक्षाएं चल रही हैं, बच्चों को परेशानी न हो इसलिए काम धीरे चल रहा है। सीएम के निर्देश पर बड़े स्तर पर काम किया जाएगा जिससे जल्द ही कानपुरवासियों को जल्द मेट्रो का तोहफा मिल सके।

Advertisements