इतिहास के पन्ने गवाह हैं कि ग्वालटोली में महात्मा गांधी ने फावड़ा व झाडू उठाकर स्वयं सफाई की


राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 148वीं जयंती पर केंद्र सरकार के प्रोत्साहन से भारत में गांधी जयंती को ‘स्वच्छता ही सेवा’ के रूप में मनाया जा रहा है। महात्मा गांधी ने स्वच्छता कार्यक्रम की शुरुआत 1934 में ही कर दी थी जब वह यूपी के सबसे बड़े औद्योगिक शहर कानपुर आए थे। इस शहर में उन्होंने मलिन…

कानपुराइट्स लाइन हाजिर


– पुराने नोट जमा करने और नए लेने के चक्कर में लाखों लोग काम छोड़कर बैंकों की लाइन में लगे
– एटीएम न चलने से बैंकों के बाहर और बढ़ी भीड़, लगातार काम से बैंक कर्मचारी भी हो रहे पस्त
– शुक्रवार देर शाम तक बैंकों और एटीएम के जरिए चार हजार करोड़ रुपए का हुआ ट्रांजेक्शन

हैरान न हों, यह अपना कानपुर ही है।


कानपुर:-दस माह की कोशिश के बाद आखिरकार मोदी सरकार ने कानपुर को मंगलवार को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल कर लिया है। ऐसे में अब यहां की तस्वीर बदलने का रास्ता खुल गया है। कानपुर के 2311.97 करोड़ रुपए के स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट में आधी धनराशि केंद्र जबकि आधी राज्य सरकार को देनी होगी। मंज़ूर हुए प्रोजेक्ट में ग्वालटोली का इलाक़ा यानी वार्ड 4,13,15,59 और 76 में आने वाले मोहल्लों का कायाकल्प होगा। साथ ही कम्पनी बाग़ से नाना राव पार्क तक वीआईपी रोड पर गंगा किनारे इलाकों में कई तरह की सुविधाओं की झड़ी लग जाएगी।