शहर में आवारा जानवरों की धमाचौकड़ी, दस्ता बेखबर


कानपुर प्रमुख संवाददाता घाटमपुर में सांड़ के पटकने से महिला की मौत के बाद शहर के भी कैटिल कैचिंग दस्ते पर सवाल उठने लगे हैं। भले ही नगर निगम आवारा जानवरों का पकड़ने का दावा कर रहा हो पर सच तो यह है कि सांड़ को पकड़कर उन्हें रखने के लिए कोई अलग जगह ही…

बुंदेलखंड से खदेड़े गए झुंड, लूट रहे घाटमपुर


घाटमपुर : दशकों से यमुना के पार बुंदेलखंड की समस्या रहे अन्ना मवेशी अब क्षेत्रीय किसानों को रूला रहे हैं। सूखे के साथ ही यह समस्या यहां आई है। मौका मिलते ही अन्ना मवेशियों का झुंड कुछ मिनटों में ही लहलहाती फसलों को चट कर जाते हैं।वर्ष 2015 में बुंदेलखंड के साथ क्षेत्र में भी…

कानपुर में 1980 मेगावाट पावर प्लांट का हुआ शिलान्यास


कानपुर. यहां के घाटमपुर के सजेती स्थित यमुना तट पर गुरुवार को 1980 मेगावाट पावर प्लांट का शिलान्यास हुआ है। केंद्रीय स्वतंत्र प्रभार मंत्री पीयूष गोयल, साध्वी ज्योति, प्रदेश ऊर्जा राज्य मंत्री और सांसद डॉ मुरली मनोहर जोशी ने दीप जलाकर इसकी शुरुआत की।

कानपुर आइए यजमान, नवरात्रि में इन मंदिरों के करें दर्शन, होगी हर मुराद पूरी


कानपुर. शहर में कई एतिहासिक मंदिर हैं। मुगलों से लेकर अंग्रेजों के किले और महल हैं। एशिया के इस मैनचेस्टर में 500 से लेकर 2000 साल प्रतिष्ठित नौ देवी माता के 6 मंदिर है।इन मंदिरों में उमड़ता है आस्‍था का सैलाब, जानें क्‍या है महत्‍व– हर मां के मंदिर का अपना अलग महत्व है। नवरात्र पर्व पर इन सभी मंदिरों में हरसाल सैकड़ों की तादाद में भक्त आते हैं और मन्नतें मांगते हैं। अपने दर पर आने वाले भक्तों को मां खाली हाथ नहीं लौटाती उनकी हर मुराद वह पूरी करती हैं। इन 6 मंदिरों में स्थापित मां की मूर्ति पर उनके यहां पर विराजने की कहानी कुछ खास है। यहां के प्राचीन मंदिरों में मां बारादेवी, मां बुद्धादेवी, मां वैभव लक्ष्मी, मां तपेश्वरी देवी, मां जंगली देवी और मां कुष्मांडा हैं। इन मंदिरों में सिर्फ कानपुर के भक्तों की ही नहीं, बल्कि दूर-दूर और दूसरे जिलों से भी भक्त दर्शन-पूजन करने के लिए आते हैं।