कानपुर के विकास को पंख लगाएगी रिंग रोड

कानपुर  शहर में 105 किलोमीटर की आउटर रिंग रोड बनाने पर मुहर तो लग गई है पर इसका निर्माण आसान नहीं है। सबसे बड़ा काम जमीन का अधिग्रहण है। इसमें 15 हजार किसानों की 600 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण होना है। केन्द्र सरकार रिंग रोड की लागत में 90 फीसदी धनराशि देने को तैयार है…

एमपी की एजेन्सी बनाएगी झकरकटी समानांतर पुल

सालों से अटके पड़े झकरकटी समानांतर पुल के निर्माण की तैयारी तेज हो गई है। सोमवार को निर्माण एजेन्सी का चयन कर लिया गया। एजेन्सी के पक्ष में अवार्ड करने के बाद उसे रेलवे से जमीन मिलते ही काम शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। रेलवे ने जल्द ही जमीन पर फैसला करने का…

कैलकुलेटर से भी तेज चलता है इस लड़की का दिमाग, चुटकियों में कर देती है बड़े-बड़े हिसाब

कक्षा 10 की छात्रा दिलप्रीत कौर का नाम एक बार फिर सुर्खियों में छाया हुआ है। कानपुर शहर की इस लड़की से स्थानिय लोग अच्छी तरह वाकिफ हैं। यहां के लोग इसे ‘कैलकुलेटर गर्ल’ कहकर बुलाते हैं। ऐसा नाम सुनकर आपको भी हैरानी हुई होगी न… लेकिन इससे भी बड़ी हैरानी आपको तब होगी जब इसके कारनामो के बारे में जानेंगे। तो लिजिए…

यह नजारा देख सब रह गए दंग, गंगा-जमुनी तहजीब का दिखा अद्भुत नजारा!

हॉकी, लाठी, डंडे, फरसे, तलवार और स्टेनगन से लैस दिखे लोग, मुस्लिम भाईयों ने शोभायात्रा का जोरदार स्वागत किया। कानपुर. भगवान राम के जन्मदिन के अवसर पर कानपुर में गंगा-जमुनी तहजीब का अद्भुत नजारा देखने को मिला। क्या हिन्दू, क्या मुस्लिम सभी संप्रदायिक एकता की एक ही डोर में बंधे थे। गणेश शंकर विद्यार्थी के…

आजादी के दीवानों की याद में मनाया जाता है हटिया होली मेला

कानपुर : क्रांतिकारियोंकी ये धरती राष्ट्रप्रेम के उसी रंग में आज भी सराबोर है। दुनिया के लिए होली सिर्फ धार्मिक पर्व होगा, लेकिन शायद कानपुर इकलौता ऐसा शहर है, जहां इसे राष्ट्रप्रेम के पर्व के रूप में भी मनाया जाता है। ब्रिटिश हुकूमत की ज्यादती के खिलाफ शुरू हुई परंपरा में हटिया होली मेला (गंगा…

इस बुजुर्ग ने किया ऐसा काम, जाति-धर्म का जहर घोलने वालों के लिए बना सबक

बिजली, कब्रिस्तान, श्मशान और कसाब में उलझाने वाले नेताओं के लिए अनोखी मिसाल। कानपुर. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के दौरान नेता वोटर्स से वोट पाने के लिए जाति-धर्म का जहर घोलकर दंगल फतह करने में लगे हैं। बिजली, कब्रिस्तान, श्मशान, कसाब के जरिए मतों के ध्रुवीकरण का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन कानपुर में…

सावधान : शहर के स्कूली वाहन जानलेवा

कानपुर। यदि आप अपने लाडले को स्कूली वाहन से भेज रहे हैं तो सावधान हो जाइए। बच्चों को ढोने में लगी बसें, मारुति वैन, टेंपो, ऑटो और ई-रिक्शा में से 80 फीसदी तो मानक के विपरीत सड़कों पर दौड़ते हैं। इसमें क्षमता से अधिक भूसे की तरह बच्चों को बिठाया जाता है। कई वैन में…

कम्प्यूटरीकृत वोटर लिस्ट बनाने वाला इकलौता जिला बना कानपुर

स्नातक एवं शिक्षक विधायक चुनाव के लिये कम्प्यूटरीकृत वोटर लिस्ट बनाने के मामले में महानगर कानपुर सूबे का इकलौता जिला बन गया है। जिला प्रशासन ने निजी प्रयासों से यह उपलब्धि हासिल की है। न तो भारत निर्वाचन आयोग और न ही उत्तरप्रदेश निर्वाचन कार्यालय ने इसके लिये कोई साफ्टवेयर दिया था, न ही कोई…

जिंदगी का आखिरी पड़ाव, जगा रहे ज्ञान की अलख

वह जिंदगी के आखिरी पड़ाव पर हैं लेकिन ज्ञान की अलख जगाने में पूरी तल्लीनता के साथ जुटे हैं। प्रतिदिन प्राथमिक स्कूल के बच्चों को तीन घंटे तक शिक्षा देने के साथ जीवन में आगे बढ़ने के गुर सिखाते हैं। एकल विद्यालयों की सूची बना रखी है। अलग-अलग स्कूल में पूरा समय देते हैं। प्राथमिक…

‘यहां सब ज्ञानी है’ फिल्म में दिखेगा कनपुरिया फक्कड़पन

कानपुर की गलियों में शूट की गई फिल्म यहां सब ज्ञानी है जल्द ही पर्दे पर दिखेगी। बिरहानारोड स्थित गनेश प्रसाद धर्मशाला का आंगन भी फिल्म में दिखेगा। सीमेंट की जालियों, नक्काशीदार वास्तुकला पर आधारित पुराने क्षेत्र के इस धर्मशाला भवन के कई हिस्से में दृशय़ फिल्माएं गए हैं। शहर के सिद्धहस्त रंगकर्मी राधेशय़ाम भी…

कानपुर के इस लाल की ऑटोमेटिक गन कैसे करती है कमाल

गुदड़ी के लाल ने छोटी सी उम्र में यह साबित कर दिखाया कि उसकी सोच कितनी बड़ी है। देश के जवानों की सुरक्षा का जज्बा रखने वाला यह लड़का एक ऐसी राह पर निकल पड़ा जहां उसके सामने अनेक कठिनाईयां थी। इसके बावजूद उसने कभी घुटने नहीं टेके। वह निरंतर आगे बढ़ता रहा। इसी बलबूते उसने इतना बड़ा अविष्कार…

कानपुर में एक ऐसा शख्स है, जिसके पास 786 नंबर का अनोखा कलेक्शन है।

कानपुर.यूपी के कानपुर में एक ऐसा शख्स है, जिसे 786 नंबर का ऐसा शौक चढ़ा कि उसने 1 रुपए से लेकर 1000 के नोटों के 82 हजार रुपए का कलेक्शन बनाया है। इसके साथ ही उसके बैंक अकाउंट से लेकर उसके पासपोर्ट में भी 786 का नंबर है।  जानिए क्यों है ऐसा अनोखा शौक…  …

कानपुर के गंगा किनारे बने बाबा घाट पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी बनाते थे ठंडाई।

कानपुर के गंगा किनारे बने बाबा घाट को शायद ही कोई जानता होगा, लेकिन एक समय था जब देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अपने दोस्तों के साथ इस घाट पर घंटो समय गुजारा करते थे। वो यहां दोस्तों के साथ मस्ती करते, गीत गाते और घंटो ठंडाई पीसते थे। आज यह घाट बदहाल…