कम्प्यूटरीकृत वोटर लिस्ट बनाने वाला इकलौता जिला बना कानपुर

स्नातक एवं शिक्षक विधायक चुनाव के लिये कम्प्यूटरीकृत वोटर लिस्ट बनाने के मामले में महानगर कानपुर सूबे का इकलौता जिला बन गया है। जिला प्रशासन ने निजी प्रयासों से यह उपलब्धि हासिल की है। न तो भारत निर्वाचन आयोग और न ही उत्तरप्रदेश निर्वाचन कार्यालय ने इसके लिये कोई साफ्टवेयर दिया था, न ही कोई…

कानपूर ऐतिहासिक और पर्यटन स्थल

कानपुर में कई दर्शनीय स्थल हैं। वैसे तो यह शहर औद्योगिक नगर है, किंतु ऐतिहासिक और पर्यटन स्थल भी यहां हैं। इनमें हैं: नानाराव पार्क (कम्पनी बाग), चिड़ियाघर, राधा-कृष्ण मन्दिर, सनाधर्म मन्दिर, काँच का मन्दिर, श्री हनुमान मन्दिर पनकी, सिद्धनाथ मन्दिर, जाजमऊ आनन्देश्वर मन्दिर परमट, जागेश्वर मन्दिर चिड़ियाघर के पास, सिद्धेश्वर मन्दिर चौबेपुर के पास,…

कानपुर में एक ऐसा शख्स है, जिसके पास 786 नंबर का अनोखा कलेक्शन है।

कानपुर.यूपी के कानपुर में एक ऐसा शख्स है, जिसे 786 नंबर का ऐसा शौक चढ़ा कि उसने 1 रुपए से लेकर 1000 के नोटों के 82 हजार रुपए का कलेक्शन बनाया है। इसके साथ ही उसके बैंक अकाउंट से लेकर उसके पासपोर्ट में भी 786 का नंबर है।  जानिए क्यों है ऐसा अनोखा शौक…  …

कॉलेज के दिनों में ऐसी थी अटल के लिए दीवानगी

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को सुनने के लिए कॉलेज के दिनों में लड़के और लड़कियां दीवाने थे। ये उन दिनों की बात है जब जाने-माने कवि, राजनीतिज्ञ, दार्शनिक अटल जी कानपुर के डीएवी कॉलेज में अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर रहे थे। कॉलेज के दिनों का एक रोचक किस्सा सुनाते हुए उनके दोस्तों ने…

मेट्रो को मिली पॉलीटेक्निक की जमीन

आखिरकार 17092 करोड़ की कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के लिए पहले डिपो के रूप में पॉलीटेक्निक की जमीन मुफ्त में मिलना तय हो गया। यूपी कैबिनेट में गुरुवार को लिए गए फैसले में पॉलीटेक्निक की 16.20 हेक्टेयर जमीन पर अब कानपुर मेट्रो रेल कार्पोरेशन (केपीएमआरसी) का कब्जा हो सकेगा। इस फैसले के साथ ही मेट्रो…

ऐसे सराहनीय कार्य करते हैं जफर, राष्ट्रीय शिक्षक रत्न अवार्ड में हुआ चयन

जफर ने शिक्षक की नौकरी पाने के बाद विद्यालय में कुछ अलग करने की ठान ली। वैसे भी अध्य्यन के दौरान उनकी शिक्षण कार्य के प्रति हमेशा से रुचि रही है और समाज से अलग हटकर पदचिन्ह बनाने की ललक उनके अंदर बनी रही।

शहर की यादगार है ‘ऑल सोल्स कैथेडरल’

कानपुर मेमोरियल चर्च जिसे ‘ऑल सोल्स कैथेडरल’ के नाम से जाना जाता है। यह शहर का सबसे पुराना चर्च है। यह करीब 141 वर्ष पुराना है। चर्च वास्तव में उन मसीही लोगों की याद में बनाया गया था जो कानपुर की घेराबन्दी के दौरान मारे गए थे। कैंट में स्थापित यह चर्च आर्किटेक्ट के आधार…

मलेशिया व सिंगापुर जैसा होगा कानपुर का तितली पार्क

कानपुर प्राणि उद्यान में मलेशिया और सिंगापुर के तर्ज पर आकर्षक तितली पार्क बनाया जाएगा। शासन कानपुर और लखनऊ प्राणि उद्यान के निदेशक को विदेश भेजने की तैयारी कर रहा है।

रिजर्व बैंक का खजाना हो गया खाली बैंक अधिकारी परेशान

16 दिन बीत चुके हैं लेकिन शहर में 20 से 25 प्रतिशत ही एटीएम अपडेट हो पाए हैं, जो एटीएम चल भी रहे हैं उसमें पर्याप्त मात्रा में करेंसी भी उपलब्ध नहीं करायी जा रही है। करेंसी उपलब्ध न होने के कारण यह एटीएम दिनभर नहीं चल पाते हैं। दो से तीन घंटे में शटर…

शहर स्थित रावतपुर रेलवे स्टेशन का डिवीजन बदलने से परिसर में बदइंतजामी का आलम

स्टेशन की सुरक्षा महज दो आरपीएफ जवानों के भरोसे है। वहां लोग आकर अराजकता करते हैं और दो जवान होने की वजह से कुछ कर भी नहीं पाते हैं। ‘‘रावतपुर स्टेशन में बाउंड्रीवॉल न होने से हो रही समस्याओं से उच्चाधिकारियों को अवगत कराएंगे ताकि स्टेशन की साफ-सफाई से लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हो सकें। – राजेंद्र सिंह, सीपीआरओ इज्जत नगर डिवीजन

ट्रेन हादसा: डीप फ्रीजर में रखे जाएंगे अज्ञात शव, व्हाट्सअप से होगी पहचान

सभी अज्ञात शवों की फोटो खींचकर देश के सभी प्रदेशों के पुलिस प्रमुखों को व्हाट्सअप के जरिये भेज दी गयी है और उनसे कहा गया है कि वह अपने अपने जिलों में इन व्हाट्सअप फोटो को सभी को भेजकर इन शवों की पहचान करवाने का प्रयास करें।अहमद ने बताया कि कानपुर देहात के डीएम और एसपी को निर्देश दिये गये है इन अज्ञात शवों की फोटो देश के सभी प्रमुख अखबारों में छपवाने की व्यवस्था करें।

आम दिनों में जिस नयागंज बाजार में पैर रखने तक की जगह नहीं मिलती थी वहां मंगलवार को सन्नाटे के चलते मोटरसाइकिलें फर्राटा भर रही थीं

कानपुर। 500 और 1000 की नोटबंदी से कारोबारी नगरी,बाजारों को 2300 करोड़ रुपए की चोट

कानपुर। 500 और 1000 की नोटबंदी से कारोबारी नगरी को तगड़ा झटका लगा है। छह दिन में बाजारों को 2300 करोड़ रुपए की चोट लगी है। ग्राहक बाजारों में खरीद-फरोख्त के बजाय बैंकों में लाइन लगाए हुए हैं। हालात ये हैं कि रेडीमेड, मशीनरी, बजाजा, किराना, खुदरा, वाहन समेत सभी बाजार सन्नाटे में हैं। सहालग में कई ज्वैलर्स दुकानों का शटर तक नहीं उठा रहे हैं। किराना बाजार में कारोबारी एक ही गद्दी पर बैठकर गप्प लड़ाकर दिन गुजार रहे हैं। कपड़ा बाजार में कर्मचारी सन्नाटे में हैं। सैकड़ों क्विंटल सरिया और लोहा बेचने वाले हालसी रोड के कारोबारी बोहनी के लिए तरस रहे हैं। वहीं, लाटूश रोड में भी कारोबार ठप है।